कास्टिकम 200 के फायदे एवं नुकसान | Causticum 200 uses in Hindi

Also Read


 कास्टिकम 200 के फायदे एवं नुकसान | Causticum 200 uses in Hindi 

आज के इस पोस्ट "Causticum 200 uses in Hindi " के माध्यम से आप जानेंगे कि Causticum 200 क्या है और इसका उपयोग क्यों किया जाता है. कास्टिकम के कौन-कौन से फायदे और नुकसान होतें हैं. साथ ही आप जानेंगे कि Causticum 200 का उपयोग कब और कैसे करना चाहिए. इसके अलावा Causticum 200 से जुड़ी और भी कई महत्वपूर्ण जानकारीयों को जानेंगे इसलिए आशा करता हूं कि आप इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ेगें और समझेंगें. 


    कास्टिकम 200 क्या है? (What is Causticum 200 in Hindi) -

    Causticum 200 एक होमियोपैथी दवा है जिसका उपयोग मुंहासे, बवासीर, बहरापन, सूजन और चर्म रोग जैसी अन्य समस्याओं में भी किया जाता है. 

    इसके अलावा इसका उपयोग गले में दर्द, कंधे में दर्द, लेरिन्जाइटिस और चेहरा लाल होने जुड़ी समस्या में भी इस दवा के उपयोग किया जाता है।


    कास्टिकम 200 की संरचना (Causticum 200 composition in Hindi) -

    Causticum 200 में मुख्य रूप से Causticum होता है. इसे Causticum 200 CH dilution के नाम से भी जाना जाता है. 


    कास्टिकम 200 के फायदे एवं उपयोग (Causticum 200 uses & benefits in Hindi) -

    Causticum 200 का उपयोग सिरदर्द पेट की गैस, बदहजमी और लिवर रोग सहित अन्य कई समस्याओं में भी किया जाता है जैसे -

    • मुंहासे 
    • बवासीर 
    • बहरापन
    • सूजन 
    • चर्म रोग 
    • खांसी 
    • गले में दर्द 
    • कंधे में दर्द 
    • लेरिन्जाइटिस
    • चेहरा लाल होने
    • ब्रोंकाइटिस 
    • सांस लेने में दिक्कत
    • गुदा की हड्डी में चोट

    इसके अलावा भी इसका उपयोग अन्य कई समस्याओं के लिए भी किया जाता है. 


    कास्टिकम 200 का उपयोग कैसे करते हैं?

    कास्टिकम की 5-6 बून्द को आधे कप पानी के साथ 3-4 बार लिया सकता है या फिर चिकित्सक के सलाह के अनुसार ही लें क्योंकि किसी भी दवा की खुराक हर व्यक्ति के उम्र, लिंग और उसकी स्थिति सहित अन्य कारकों पर निर्भर करता है. 


    कास्टिकम 200 के नुकसान (Side effects of Causticum 200 in Hindi) -

    कास्टिकम से किसी प्रकार के दुष्प्रभाव या साइड इफैक्ट की समस्या नहीं होती है. यदि आप इसका इस्तेमाल ज्यादा मात्रा में करतें हैं या किसी प्रकार की समस्या होती है तो डॉक्टर से सलाह जरूर लें.

    जब भी आप इसका इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह के अनुसार करतें हैं और उचित मात्रा में करतें हैं तो इसके किसी भी प्रकार की साइड इफैक्ट या नुकसान देखने को नहीं मिलतें हैं.


    Causticum 200 का उपयोग कब नहीं कराना चाहिए? 

    यदि आप Causticum 200 का सेवन करने की सोच रहे हैं या करना चाहतें हैं तो निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए -

    • यदि आप गर्भवती हो तो इसके सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें. 
    • यदि आप बच्चे को स्तनपान कराती हो तो भी इसका सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के ना करें. 
    • जरूरत से ज्यादा या अधिक मात्रा में Causticum 200 का सेवन नहीं करना चाहिए और लम्बे समय तक इसके उपयोग से पहले किसी विशेषज्ञ की सलाह लें.
    •  यदि आप पहले से कोई अंग्रेजी दवा या अन्य दवा खा रहे हैं तो उसकी जानकारी डॉक्टर को जरूर दें. 
    • किसी अन्य दवा और होम्योपैथिक दवा के बीच आधे घंटे का अंतर बनाए रखें। 
    • कपूर, लहसुन, प्याज, कॉफी और हिंग जैसे दवा लेते समय मुंह में किसी भी तेज गंध से बचें।


    Causticum के सारे विकल्प (Substitutes for Causticum in Hindi) -

    कुछ दवाएँ ऐसी भी है जिसका उपयोग Causticum के विकल्प के तौर पर किया जा सकता है जैसे -

    • SBL Causticum 200 CH 
    • SBL Causticum Dilution 200 CH 
    • SBL Causticum 6 CH 
    • Dr. Reckeweg Causticum CH
    • Schwabe Causticum 10M CH
    • SBL Causticum 1000 CH 
    • Schwabe Causticum 12 CH 
    • Schwabe Causticum 50M CH 
    • Schwabe Causticum CM CH 
    • Dr. Reckeweg Causticum 200 CH 
    • Schwabe Causticum 6 CH 
    • Dr. Reckeweg Causticum 50M 
    • Dr. Reckeweg Causticum 10M 
    • Schwabe Causticum 1000 CH 
    • Dr. Reckeweg Causticum 6 CH 
    • Dr. Reckeweg Causticum 200 CH 
    • Dr. Reckeweg Causticum 1000 CH 

    ये कुछ ऐसी होमियोपैथी दवा है जिसका उपयोग Causticum के विकल्प के तौर पर किया जा सकता है. 


    Causticum 200 की कीमत कितनी होती है? 

    Causticum 200 के अलग-अलग वैरिएंट की कीमत अलग-अलग होती है जो  85-90 रूपए तक मिल जाती है. जिसे आप अपने नजदीकी दवा की दुकान से या फिर ऑनलाइन भी ऑडर कर सकते हैं. 


    Causticum को स्टोर कैसे करें? 

    Causticum को स्टोर करने के लिए इसे धूप से बचाना चाहिए और इसको फ्रीज में भी नहीं रखना चाहिए.इसे स्टोर करने के लिए आप नॉर्मल कमरे के तापमान में रख सकते हो.

    SBL Causticum एक्सपायर होने से पहले तक ही उपयोग करना चाहिए। यदि यह एक्सपायर हो जाये तो इसको हटा देना चाहिए. काफी लम्बे समय तक इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए.यदि आप ऐसा करतें हैं तो इसके बारे में डॉक्टर से जरूर पूछ लेना चाहिए.


    Conclusion -

    आज के इस पोस्ट "Causticum 200 uses in Hindi " के माध्यम से आपने जाना कि Causticum 200 क्या है और इसका उपयोग क्यों किया जाता है. कास्टिकम के कौन-कौन से फायदे और नुकसान होतें हैं. साथ ही आपने जाना कि Causticum 200 का उपयोग कब और कैसे करना चाहिए. इसके अलावा Causticum 200 से जुड़ी और भी कई महत्वपूर्ण जानकारीयों को जाना इसलिए आशा करता हूं कि आपको यह पोस्ट अच्छा लगा होगा और आपको उचित जानकारी मिली होगी.. धन्यवाद. 

    Post a Comment

    0 Comments