सोफ्रामाइसिन क्रीम के फायदे एवं नुकसान | Soframycin skin cream uses in Hindi.

Also Read


सोफ्रामाइसिन क्रीम के फायदे एवं नुकसान | Soframycin skin cream uses in Hindi. 
सोफ्रामाइसिन क्रीम के फायदे एवं नुकसान | Soframycin skin cream uses in Hindi.
Soframycin skin cream uses in hindi. 

स्वागत है आपका आज के इस पोस्ट "soframycin skin cream uses in hindi " में. इस पोस्ट के माध्यम से आप जानेंगे कि soframycin cream क्या है?  और sofs cream का उपयोग क्यों किया जाता है. सोफ्रामाइसिन क्या है, कैसे काम करती है, इसे प्रयोग में कैसे लेते है और इसके फायदे और नुकसान क्या है?


सोफ्रामाइसिन क्या है? (What is Soframycin cream uses in hindi) 

सोफ्रामाइसिन (soframycin cream in hindi) एक एंटीबायोटिक क्रीम है जो की बहुत से रोगों में काम आती है. खासकर बैक्टीरिया से होने वाले इन्फेक्शन में यह दवा बहुत कामगार है. इसे Sanofi India ने बनाया है. 

सोफ्रामाइसिन खासकर आँखों के इन्फेक्शन, जलने, काटने, घाव, कान के इन्फेक्शन आदि में काम आती है. यह दवा सिर्फ बाहरी इस्तेमाल के लिए ही है और इसे डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही इस्तेमाल करना चाहिए.


सोफ्रामाइसिन क्रीम प्रॉपर्टी और निर्माता

प्रॉपर्टी – Framycetin (1% w/w)

निर्माता – एवेंटिस इंडिया लिमिटेड

स्टोरेज – below 30°C


ये भी पढ़े 👉


सोफ्रामाइसिन क्रीम का उपयोग और लाभ- (Soframycin skin cream uses in hindi)

सोफ्रामायसिन 1% स्किन क्रीम एक एंटीबायोटिक क्रीम है. जो आपकी त्वचा पर संक्रमण पैदा करने वाले जीवाणुओं को बढ़ने से रोकता है. यह बैक्टीरिया के जिवित रहने के लिए जरुरी प्रोटीन के संश्लेषण को रोकने का काम करता है.

यह फोड़े, इम्पेटिगो और सिर के रोम की संक्रमित त्वचा के संक्रमण के खिलाफ अच्छा काम करता है. इसका उपयोग शरीर पर मामूली कट, या घावों में इंफेक्शन के इलाज के लिए भी किया जा सकता है. चिकित्सा प्रदाता द्वारा जब तक यह निर्धारित किया जाता है तब तक आपको इसका इस्तेमाल करते रहना चाहिए.


बैक्टीरियल नेत्र संक्रमण-

इस दवा के नेत्र रूप (आई ड्रॉप्स) का उपयोग बैक्टीरियल नेत्र संक्रमण जैसे बैक्टीरियल नेत्रश्लेष्मलाशोथ, बैक्टीरियल ब्लेफेराइटिस आदि के इलाज के लिए किया जाता है


बाहरी कान संक्रमण-

बाहरी कान के जीवाणु संक्रमण के इलाज के लिए इस दवा के ओटिक प्रशासनिक रूप (कान की बूंदों) का उपयोग किया जाता है.


बैक्टीरियल त्वचा संक्रमण-

इस दवा के सामयिक रूप जैसे कि क्रीम, डस्टिंग पाउडर आदि का उपयोग जीवाणु त्वचा संक्रमण को रोकने और इलाज के लिए किया जाता है .इसका उपयोग जलन, घाव, त्वचा के छालों आदि में भी जीवाणु संक्रमण को रोकने के लिए किया जाता है .


सोफ्रामाइसिन का प्रयोग कैसे करें?(How to use Soframycin skin cream in Hindi)

सोफ्रामाइसिन क्रीम का प्रयोग (soframycin skin cream uses in hindi) करना बहुत ही आसान है. इसे अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार लगाये जब तक की डॉक्टर ने इसे यूज़ करने को कहा है. दिन में ज्यादा से ज्यादा 1 से 3 बार तक. 

जिस जगह पर इस दवा को लगाना है पहले उसे अच्छे से साफ़ पानी से साफ़ कर ले और उसके बाद ही इस दवा को लगाना चाहिए.

इसको प्रभावित क्षेत्र पर धीरे-धीरे मालिश करनी चाहिए. क्रीम को लगाने के बाद उसे खुला छोड़े. तंग कपड़े ना पहने. सोफ्रामाइसिन क्रीम के अलावा, आँखों और कान की बूंदों के रूप में भी उपलब्ध है. इसे अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार यूज़ कर सकते है.


ये भी पढ़े 👉


सोफ्रामाइसिन का उपयोग क्यों किया जाता है?(Why to use Soframycin Cream in Hindi)-

Soframycin cream का इस्तेमाल कई प्रकार के स्किन से जुड़ी समस्या, जलन और घाव के अलावा अन्य कई तरहों से किया जाता है. जो इस प्रकार है -

  • आँखों में इन्फेक्शन होने पर
  • घाव होने पर
  • जलन होने पर
  • कट लगने पर
  • स्किन में इन्फेक्शन होने पर
  • कान में इन्फेक्शन होने पर

इन सभी स्थिति में सोफ्रामाइसिन क्रीम का यूज़ किया जाता है.


सोफ्रामाइसिन की खुराक-

सोफ्रामाइसिन रोगी और उसके मामले के अनुसार दी जाती है. जिसमे रोगी की बीमारी, उसकी उम्र, उसका पुराना स्वास्थ्य इतिहास , दवाई देने के तरीके और अन्य कारकों के आधार पर यह दवा दी जाती है.


सोफ्रामाइसिन के साइड इफ़ेक्ट (Side Effect of Soframycin cream in Hindi) -

Soframycin cream के इस्तेमाल करने से कुछ इस तरह के साइड इफैक्ट दिखाई दे सकते हैं. जो निम्न हैं -

  • एलर्जी होना
  • सुखी त्वचा होना
  • आंखो मे लाली होना
  • त्वचा पर सुजन होना
  • सेंसेटिव स्क्रीन
  • शरीर पर खुजलीदार दाने होना
  • जलन होना
  • त्वचा पर चकते होना

इसके अलावा कभी - कभी पैड़ों में झुनझुनी होना और लाल निशान पड़ना भी दिखाई दे सकते हैं. इसलिए यदि आपको इस प्रकार की समस्या होती है तो आप तुरंत डॉक्टर से सलाह लें. 


सोफ्रामाइसिन के इस्तेमाल से सावधानियां -

अगर आपको इस दवा से एलर्जी हो रही है तो इस दवा को यूज़ करना बंद कर दे या डॉक्टर से सलाह लेकर यूज़ करें.

  • प्रेगनेंसी के दौरान डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही इसका इस्तेमाल करें.
  • स्तनपान के दौरान भी अपने डॉक्टर से सलाह ले.
  • इस दवा का इस्तेमाल करने से पहेल हाथों को अच्छे से धोकर साफ़ कर ले.
  • जिस जगह पर दवा लगा रहे है उस जगह को भी साफ़ पानी से धो ले.
  • इस क्रीम को बच्चों से दूर रखें.
  • अगर इस दवा से पहले आप कोई विटामीन की दवा ले रहे है तो डॉक्टर से सलाह लेकर ही इस दवा को ले.
  • इस दवा को लगाने के बाद तंग कपड़े ना पहने.
  • अगर आप स्किन के लिए इस क्रीम को यूज़ कर रहे है तो ज्यादा मात्रा में ना करें अन्यथा लाल निशान पड़ सकते है, इसलिए डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही इसे यूज़ करें.
  • सोफ्रामाइसिन एक्सपायर होने के बाद इस दवा का यूज़ ना करें, क्योंकि इसके बाद यह दवा काम नहीं करती है बल्कि आपके शरीर पर विपरीत प्रभाव डाल सकती है. अगर आपने गलती से इसकी एक्सपायर दवा का इस्तेमाल कर लिया है तो अपने डॉक्टर से इसके बारे में सलाह जरुर ले.
  • डॉक्टर द्वारा बताई गई अवधि के बाद इस दवा का इस्तेमाल ना करें अन्यथा इसके साइड इफ़ेक्ट हो सकते है.
  • इस दवा को बीच में बंद नहीं करना चाहिए, क्योंकि यह एक एंटीबायोटिक दवा है और एंटीबायोटिक दवा को बीच में बंद करने संक्रमण तेजी से फ़ैल सकता है.
  • यह दवा केवल बाहरी यूज़ के लिए ही है.


सोफ्रामाइसिन क्रीम का अन्य दवाओं के साथ इंटरेक्शन-

सोफ्रामायसिन स्किन क्रीम कुछ दवाओं के साथ इंटरएक्ट कर सकता है.जिसकी सूची निम्नलिखित है यह सूची पूर्ण नहीं मानी जानी चाहिए इसके अलावा कुछ अन्य दवाएं हो सकती हैं जिनके साथ सोफ्रामायसिन स्किन क्रीम इंटरेक्ट कर सकता है.

  • Omeprazole
  • Levocetirizine
  • Capreomycin
  • Amikacin


सोफ्रामाइसिन का इस्तेमाल कब नहीं करना चाहिए? 

अगर कोई महिला गर्भवती है या स्तनपान करा रही है.

अगर कोई व्यक्ति गंभीर एलर्जी से पीड़ित है.

अगर व्यक्ति किसी अन्य दवा का यूज़ कर रहा है जैसे की आयुर्वेदिक या विटामीन की दवा.

अगर व्यक्ति के प्रभावित क्षेत्र पर कोई सर्जरी हुयी हो.


सोफ्रामाइसिन स्कीन क्रीम के बारे में लोगों के अनुभव कैसा है? 

जिन लोगों ने सोफ्रामाइसिन का इस्तेमाल दिन में एक बार किया है उनमे से ज्यादातर लोगों का कहना है की उन्हें किसी भी तरह का साइड इफ़ेक्ट नहीं हुआ है और जो लोग दिन में 2 बार या उससे ज्यादा इस्तेमाल करते है उनमे से कुछ लोगों का कहना है की उन्हें जलन का अनुभव हुआ है.


नोट :- इस दवा को डॉक्टर की सलाह से ही ले और डॉक्टर द्वारा बताई गई अवधि तक ही इसका इस्तेमाल करें अन्यथा आपको इसके विपरीत परिणाम देखने को मिल सकते है.


Conclusion for( soframycin cream uses in Hindi) -

आज के इस पोस्ट "soframycin skin cream uses in Hindi " के माध्यम से आज आपने जाना कि soframycin cream क्या है और इसका उपयोग क्यों किया जाता है. साथ ही आपने इससे जुड़े और भी कई महत्वपूर्ण जानकारीयों के बारे में जाना.आशा करता हूँ कि आपको यह पोस्ट अच्छा लगा होगा और यदि आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो अपना कमेंट जरूर करें. धन्यवाद. 

Post a Comment

0 Comments